सरकार दे रही है किसानों को फ्री बीज Beej Swavalamban Yojanab 2024

राज्य सरकार ने किसानों के लिए मुक्त बी योजना की शुरुआत की है इस योजना के अंतर्गत कमजोर वर्गों में किसानों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा कुछ लोग ऐसे होते हैं जो बी नहीं खरीद पाए जिस कारण उनकी फसल सही नहीं होती या कुछ किसान ऐसे भी होते हैं जो बी तो खरीद पाते हैं लेकिन पैसों की टंकी के कारण वह सही तरह का बीज नहीं खरीद पाए जिससे उनकी फसल सही नहीं होती है तो ऐसे में सरकार ने फ्री वीडियो योजना का शुरुआत की है इस योजना के अंतर्गत किस ऑन को सरकार फ्री में अच्छी किस्म का बीज देगी जिस कारण किसान अच्छी तरह से फसल की पैदावार कर सके और अच्छा मुनाफा प्राप्त कर सके इस योजना की पूरी जानकारी हमने आपको उपलब्ध करा दी है तो प्लीज इस आर्टिकल को शुरू से लेकर एंड तक जरूर पढ़ें।




मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना 2023

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की है। इस योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को लाभान्वित करने के लिए कृषि विभाग द्वारा लक्ष्य दिया जाता है। कृषि विभाग द्वारा 30 से 50 किसानों का समूह बनाया जाता है ताकि वे आपसी सहयोग से खेती कर सकें। किसान समूह का चयन कृषि विभाग द्वारा किया जाता है। इन किसानों को आरएसएससी की ओर से नि:शुल्क बीज उपलब्ध कराया जाता है। बुवाई के बाद समूह के सभी किसानों को सरकार द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। यह प्रशिक्षण किसान समूह को 3 चरणों में दिया जाता है। ताकि प्रशिक्षण प्राप्त कर कृषक समूह बीज उत्पादन कर उसे बेच सके। इसके अलावा मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत लघु एवं सीमांत कृषकों को बीज हेतु अनुदान प्रदान किया जाता है। ताकि राज्य के किसान बिना किसी परेशानी के अपनी खेती कर खुशहाल और आत्मनिर्भर बन सकें।




मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान का उद्देश्य

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना को प्रारम्भ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के लघु एवं सीमान्त सामान्य किसानों को बीज उपलब्ध कराने हेतु कृषि विभाग द्वारा 50 प्रतिशत तक अनुदान प्रदान करना है। इसके अलावा गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले किसानों को नि:शुल्क मिनी किट प्रदान की जानी है। ताकि राज्य के किसान अपने खेतों में बीज का उत्पादन कर समृद्धि और आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ायें। और उन्हें अपने खेत में उपयोग के लिए बीज पैदा करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है। इस योजना का लाभ मिलने से किसान कम लागत में अच्छी फसल का उत्पादन कर सकेंगे। जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में भी वृद्धि होगी।




किसानों को 50% तक सब्सिडी मिलती है

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत राज्य के लघु एवं सीमांत किसानों को बीज उपलब्ध कराने के लिए कृषि विभाग द्वारा अनुदान दिया जाता है। इस योजना के तहत राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को सरकार द्वारा 50% तक की सब्सिडी पर बीज उपलब्ध कराया जाता है। वहीं सामान्य किसानों को 25 प्रतिशत अनुदान पर बीज की आपूर्ति सुनिश्चित की जाती है. इसके अलावा खाद, दवाइयां और कृषि यंत्रों को भी प्रत्येक राज्य सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता है। यह अनुदान अलग-अलग राज्यों के हिसाब से अलग-अलग दिया जाता है। मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना से 2 लाख से अधिक किसान लाभान्वित हो चुके हैं। इस योजना के तहत अब तक राजस्थान सरकार द्वारा 46,326 क्विंटल बीज निःशुल्क वितरित किया जा चुका है।




मुफ्त बीज कैसे प्राप्त करें

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत सरकार द्वारा राज्य के किसानों को राष्ट्रीय तिलहन एवं तेल अनुमति एवं राष्ट्रीय उर्वरक सुरक्षा मिशन के अनुसार बीज की निःशुल्क मिनीकिट वितरित की जाती है। सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली बीज की मिनी किट के लिए फसल बीज का चयन राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों की मिट्टी और जलवायु के आधार पर किया जाता है। ताकि राज्य के किसानों को कृषि विभाग द्वारा उन्नत किस्म के बीज उपलब्ध कराये जा सकें और उन्हें अपने उपयोग के लिए बीज उत्पादन के लिए प्रेरित किया जा सके। मिनी किट किसान परिवार की केवल एक महिला सदस्य को दी जाती है। चाहे जमीन महिला के पति, पिता या ससुर के नाम हो। मिनी किट का लाभ महिला सदस्य के नाम पर ही दिया जाता है।




मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के लाभ और विशेषताएं

मुख्यमंत्री बीज स्वालंबन योजना का लाभ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लघु एवं सीमान्त कृषकों को प्रदान किया जाता है।
इस योजना में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले राज्य के गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के किसानों को प्राथमिकता दी जाती है।
इस योजना के तहत राष्ट्रीय तिलहन एवं तेल अनुमति एवं राष्ट्रीय उर्वरक सुरक्षा मिशन के तहत किसानों को नि:शुल्क मिनी किट का लाभ दिया जाता है।
मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत छोटे किसानों को बीज पर 50 प्रतिशत तक अनुदान उपलब्ध कराया जाता है।
जबकि आम किसानों को 25 फीसदी सब्सिडी दी जाती है।
राजस्थान कृषि विभाग आरएसएससी की ओर से किसानों को मुफ्त बीज उपलब्ध कराता है।
इस योजना के तहत अब तक राजस्थान सरकार द्वारा 46,326 क्विंटल बीज निःशुल्क वितरित किया जा चुका है।
इस योजना के तहत किसानों को प्रशिक्षण भी दिया जाता है। जिसके बाद किसान बीज का उत्पादन करते हुए बीज को बेच सकते हैं।
मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान 2023 के माध्यम से प्रदेश के 2 लाख से अधिक किसान लाभान्वित हो चुके हैं।
इस योजना से किसान अपने खेतों में बीज उत्पादन कर आत्मनिर्भर बन रहे हैं।
यह योजना किसानों को अपने उपयोग के लिए बीज का उत्पादन करने के लिए प्रेरित करने में मदद करेगी।




मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के लिए पात्रता

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के लिए आवेदक राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए।
राज्य के अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति के लघु एवं सीमांत किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा।
नि:शुल्क मिनी किट प्राप्त करने के लिए आवेदक ने पिछले 3 वर्षों में मिनी किट कार्यक्रम का लाभ नहीं लिया हो।
केवल महिला किसान ही मिनी किट पाने की पात्र होंगी।




मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के लिए आवश्यक दस्तावेज

आधार कार्ड
पहचान पत्र
निवास प्रमाण पत्र
जाति प्रमाण पत्र
मोबाइल नंबर
पासपोर्ट साइज फोटो




मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको अपने जिले के कृषि विभाग कार्यालय या कृषि विज्ञान केंद्र में जाना होगा।
वहां जाकर आपको इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको फॉर्म में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारियों को सावधानीपूर्वक दर्ज करना होगा।
सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आवेदन पत्र के साथ आवश्यक दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
इसके बाद आपको यह आवेदन पत्र वापस वहीं जमा करना होगा जहां से आपने इसे प्राप्त किया था।
इस प्रकार मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
आवेदन पत्र सत्यापित होने के बाद आपको इस योजना का लाभ दिया जाएगा।




नोट: आज के इस आर्टिकल में हमने आपको Beej Swavalamban Yojana से सम्बंधित लगभग सभी जानकारी दे दी है, अगर आप फिर भी कुछ पूछना चाहते है तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है।

नोट:- इसी तरह हम केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी सबसे पहले इस वेबसाइट sarkari-yojanaa.in के माध्यम से देते हैं तो हमारी वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें।




Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top